सही बातें पढ़ने की आदत हो तो, सही काम करने की आदत अपने आप बन जाती है।

मंगलवार, 21 जुलाई 2020

इरादा की शक्ति कैसे काम करता है : The Power of Intention In Hindi

नमस्ते पाठक,

आज हम बात कर रहे हैं इरादा की शक्ति के बारे में,यह आपके लिए बहुत ही लाभकारी और सफलता के रास्ते पर ले जाने वाला अद्भुत शक्ति है।जब आप कुछ करने के लिए अपना मन बनाते हैं तो बहुत सारी शक्तियाँ मिलकर आपको नकारात्मक विचार,सकारात्मक कुछ बहाना,कुछ मुश्किल और भय का बोध की ओर ले जाता है।इरादा एक अदृश्य शक्ति और मानसिक स्थिति है जो भविष्य में किसी कार्रवाई या कार्यों को करने की प्रतिबद्धता का प्रतिनिधित्व करता है।इरादा में मानसिक गतिविधियों जैसे कि नियोजन (Planning)और पूर्वविचार (Forethought)शामिल हैं।                

इरादा की शक्ति कैसे काम करता है

इरादा की शक्ति:

आपके लिए सभी बाधाओं का रास्ता बनाता है,सभी परिवर्तन चक्र समय और प्रयास का विषय बनाता है।सभी मुश्किल संभावनाएं आसान बन जाता है।सभी बहाना और टालमटोल हवा में गायब हो जाता है।सभी भय जो आपको डराने में लगे होते हैं वो गायब हो जाता है।सब कुछ सुलभ हो जाता है।आपके इरादे अगर मजबूत हो और इरादा शक्ति के साथ किसी भी कार्य को करे तो सफलता निश्चित है।उस सटीक क्षण में जब आप कुछ करने का निर्णय लेते हैं,अचानक सब कुछ स्पष्ट हो जाता है। आप अपनी वास्तविक क्षमताओं को देखते हुए,कभी-कभी पहली बार में कुछ ऐसा कर जाते हैं जो शायद आपने सोचा भी नहीं होगा,यहाँ इरादा की शक्ति काम करता है। यह चुनौतियाँ का सामना करने में ज्ञानवर्धक का काम करता है और आपके  जीवन में चमत्कार ला सकता है। 



“इरादा की शक्ति” एक पुस्तक जो आप सभी को पढना चाहिए जिसके लेखक डॉ.वेन डब्ल्यू डायर है उन्होंने इस पुस्तक में लिखा है जब भी आप चिंता महसूस करते हैं या किसी दुबिधा में रहते हैं,तब आप अपने इरादा से पूछ सकते हैं या खुद से यह सवाल कर सकते है कि आप इस दुनिया में किसी उद्देश्य से हैं,यहाँ मैं कुछ हासिल कर सकता हूं या नहीं!ऐसे कुछ सवाल जो आपके इरादा को शक्ति देता है।आइये जानते हैं इस पुस्तक के माध्यम से अगर अपने अन्दर के इरादे की शक्ति को सक्रिय करना चाहते हैं तो आपको चार बातें जीवन में लाना होगा। 

1.अनुशासन

इरादे की शक्ति को अपनाने के लिए,आपको पहले एक मजबूत आदत और खुद को अनुशाशन में रखना होगा।आपको उन कामों  को करना चाहिए जो आपको करने में गर्व महसूस होता है।और स्वस्थ आहार खाकर आपको स्वस्थ रहना चाहिए। आपको अपने आदर्श दिनचर्या के लिए ईमानदारी के साथ अनुशाशन में रहें ।

2.बुद्धि

आपको अनुशासन के साथ ज्ञान को संयोजित करना चाहिए क्योंकि तभी आप अपने शरीर के काम के साथ अपनी भावना और मन को सामंजस्य तालमेल बैठा सकते  हैं।

3.खुद से प्रेम

खुद से प्रेम करों,जो भी कर रहें है उसपर भरोसा होना चाहिए और भरोसा से इरादा मजबूत होता है और यह तभी संभव है जब आप और हम खुद से प्रेम करना सीख जायेंगे।

4.समर्पण

यह एक ऐसी भावना है जहां आपका दिमाग और आपका शरीर को छोड़कर किसी काम के प्रति अपना समर्पण को बल देता है और समर्पण से शक्ति मिलता है।

               इरादा की शक्ति कैसे काम करता है


इस पुस्तक के अनुसार,प्रतिदिन आपको अपनी इच्छाओं को महसूस करने की जरुरत है,पहले उन्हें अपने आंतरिक इच्छा के साथ मेल खाना चाहिए और लेखक का कहना है कि हमारा आंतरिक इच्छा हमारी कल्पना को दर्शाता है और हमारी कल्पना को आत्मा के साथ जोड़ा जाता है। 

यह भी पढ़ें:कैसे एक आदत को पुनः आरंभ करें!


          इरादा की शक्ति कैसे काम करता है? 

 यह कुल सात माध्यम से काम करता है। 

1.रचनात्मक बनें

आपको अपने स्वयं के लक्ष्य पर भरोसा होना चाहिये।दैनिक विचारों और गतिविधियों में अटूट इरादे का दृष्टिकोण भी रखना होगा,यहाँ  रचनात्मक रहने का मतलब आपके व्यक्तिगत इरादों को वास्तविक रूप देना है।

2.दयालु बनो

आपको स्वयं के प्रति दयालु रहने की जरुरत है और हम लोगों को दूसरों के प्रति दयालु होना चाहिए,हमें अपने जीवन और दूसरों के जीवन के प्रति दयालु होना चाहिए। दयालु बनने से यह अभिप्राय यह है की जब हम किसी को देने का इरादा रखते है तभी हम किसी से लेने का इच्छा रखेंगे। 

3.प्यार करो

प्यार भगवान की इच्छा के पीछे का बल है,यह आध्यात्मिक कंपन है वह दिव्य अभिप्राय निराकार से ठोस अभिव्यक्ति तक ले जाता है।

4.मन की सुन्दरता

जैसे हम सभी भगवान के प्रति अपना स्वच्छ मन रखते हैं और भगवान के प्रति जागरूक रहते हैं उसी तरह किसी काम को करने के लिए इरादा की शक्ति को पहचानना होगा।   

5.खुद की अलग पहचान

एक निरंतर विस्तार की स्थिति में रहने के लिए,खुद को बौद्धिक रूप से, आध्यात्मिक और भावनात्मक रूप से अपने आपको सर्वव्यापक एक अलग पहचान देना होगा।

6.सकारात्मक सोच

हमारे इरादे अंतहीन होते हैं, हम वही बनते हैं जिसके बारे में हम सोचते हैं,इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचें और सोचें कि आप हमेशा क्या चाहते हैं। 

7.ग्रहणशील बनें

सर्वव्यापक रूप से हमारा दिमाग किसी के साथ प्रतिक्रिया करने के लिए तैयार रहता है जिसने इसके साथ सच्चे संबंध को समझा है,और आपको वह सब प्राप्त होता है जो आप जीवन में प्राप्त करना चाहते हैं।ग्रहणशीलता से शक्ति प्रदान होता है।  

अब आपका दिमाग चुनौती के लिए हमेशा तैयार रहेगा और आपका शरीर अनुसरण भी करेगा।

यही इरादे की ताकत है। सब कुछ आपके इरादे के कारण होता है। यह मन की क्षमता है। अपने मन की शक्ति का उपयोग करें। ये मुफ्त का है। यह माप से परे सक्षम है क्योंकि विज्ञान में किसी भी उन्नति का शाब्दिक अर्थ नहीं है - और मेरा शाब्दिक अर्थ है “इरादा की शक्ति”और  इरादे की शक्ति आपकी सबसे मजबूत संपत्ति है और जीवन में आपकी सबसे बड़ी सहयोगी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Please do not enter any spam link in the comment box