सही बातें पढ़ने की आदत हो तो, सही काम करने की आदत अपने आप बन जाती है।

गुरुवार, 4 जून 2020

जिन्दगी जीने के 10 आसान तरीका – खुश रहें मस्त रहें

कहते हैं “चार दिन की है जिंदगानी”तो यही चार दिन है आपके पास जीने के लिए और अगर आप सही मायने में जिंदगी जीना चाहते हैं तो हमेशा खुश रहना सीखिए, दूसरों को खुश रखिये,थोडें- थोडें मौके पे ख़ुशीयां मानाने का कोई मौका न छोड़ें, तनाव मुक्त रहें, पैसों के पीछे मत भागिए, हाँ यह भी सही है! पैसा जिन्दगी में अहमियत रखता है लिकिन कुछ ऐसा काम करें की पैसा आपके पीछे खुद व् खुद आये और अपने एवं अपनों के लिए समय निकालिए आइये जाने जिन्दगी जीने के 10 आसान तरीका - खुश रहें मस्त रहें।

जिन्दगी जीने के 10 आसान तरीका – खुश रहें मस्त रहें
खुश रहें मस्त रहें। 

1.भगवान को शुक्रिया (Gratidude) करें: 

आप जिस भी भगवान,खुदा,ईश्वर और अल्लाह को मानते हो प्रतिदिन सुबह उठकर उन्हें धन्यवाद और सुक्रिया करें की आप जिस हाल में है सुख में हैं या दुःख में,हमेशा भगवान को सुक्रिया कहें यह एक चमत्कार जैसा आपके जिन्दगी में होगा। बहुत सारे लेखकों एवं शिक्षाविदों ने इसे माना है और अपनाया भी है। कभी भगवान से शिकायत न करें।ऐसा करने से आपकी जिन्दगी में खुशहाली आयेगी और सिर्फ भगवान ही नहीं जो भी आपके जिन्दगी से जुड़े है उन सभी को सुक्रिया एवं धन्यवाद बोलना चाहिए चाहे वो माता–पिता हों,भाई-बहन,आपके सहपाठी, सहयोगी,पड़ोसी,पत्नी,बच्चे,यहाँ तक नौकर,कर्मचारी और ड्राईवर सभी को सुक्रिया कहें जो कहीं ना कहीं आपके जिन्दगी से जुड़े हैं। 

2.हमेशा खुश रहें: 

आप जैसा भी हो जिस हाल में हों खुश रहें शायद भगवान आपके लिए कुछ और सोच के रखे हैं कभी किसी से ईर्ष्या न करें, जहाँ तक संभव हो दूसरों को खुश रहने में मदत करें अगर आप दूसरों को खुश रखेंगे तो भगवान आपको खुश रखेगा।
 

3.परिवार का खास ध्यान रखें: 

परिवार आपका पूंजी है और पूंजी को ध्यान रखना आपका कर्तव्य और निष्ठा भी है,आप किसी काम में कितना भी व्यस्त न हों परिवार के लिए जरूर समय निकालिए हो सके तो रात्रि भोज एक साथ करें इससे परिवार में अनुशाशन बना राहत है परिवार में अपने माता- पिता का खास ख्याल रखें माता- पिता भगवान का दूसरा रूप होते हैं। 

4.स्वस्थ रहें (Be Healthy): 

अंग्रेजी में एक कहावत है“Health is Wealth” स्वास्थ्य ही धन है और अगर आप स्वस्थ रहेंगे तो कभी भी धन का अर्जन कर सकते हैं और अपने परिवार का भी ख्याल रख सकते हैं सही स्वास्थ्य सफलता का कुंजी भी है,स्वस्थ रहने के लिए प्रतिदिन शुबह में व्यायाम,योगा,एवं ध्यान क्रिया जरूर करें।  

5.हमेशा दूसरों की सहायता करें: 

दूसरों का सहायता करना सबसे बड़ा धर्म है खासकर महिला,बुजुर्ग, दिव्यांग और ऐसे लोग जो आपसे सहायता की उम्मीद रखते हैं उनका सहायता करना चाहिए इससे आपको आशीर्वाद (Blessing) मिलता है जिसे आप गर्वांवित एवं ख़ुशी महसूस करते है और ऐसे लोगों के सहायता करने  पे भगवान आपको सहायता करते हैं।  
जिन्दगी जीने के 10 आसान तरीका – खुश रहें मस्त रहें

6.दान-पुण्य  करें: 

दान करना पुण्य कमाने जैसा होता है इसलिए आप जितना सक्षम हो उतना दान जरूर करें आप जितना भी कमाते है उसमे एक कुछ अंश दान का भी होना चाहिये इससे भी आप गर्वांवित एवं ख़ुश महसूस करेंगे और फिर जितना आप दान देंगे उससे कई गुणा भगवान आपको तोहफा में लौटा देंगें।  

7.किताब जरूर पढे: 

किताब विद्या का सार और ज्ञान का भंडार भी है हो सके तो प्रतिदिन आधे घंटे तक किसी भी विषय की पुस्तक पढने की आदत डालनी चाहिए इससे आपका भौतिक,सांसारिक एवं धार्मिक ज्ञान की बढ़ोतरी होती है जिसे आप किसी भी बड़ी से बड़ी परिस्थिति की सामना करने में सक्षम होंगे और उससे सकुशल बाहर निकलने में मदत मिलता है।  


8.अपने धर्म के प्रति आदर रखें: 

धर्म और आस्था मनुष्य का सबसे बड़ा हथियार है और धर्म किसी भी समुदाय को जीने का सलिखा सिखाता है। जीवन को अनुशाशित होने की कला सिर्फ धर्म से आती है भगवान में आस्था रखने वालों की कभी हार नहीं होती है। आस्था विश्वास की कुंजी पटल है जो जिन्दगी को दृढ गंभीर बनाता है और सफलता की राह पे ले जाता है आप किसी भी धर्म के मानने वाले हो अपने अपने धर्म में आस्था जरूर रखें आपकी जिन्दगी बहुत खुशहाल गुजरेगा।  

9.प्रकृति का रख रखाव करें: 

धर्म के बाद कोई अगर ज्यादा ख़ुशी देने वाला है तो वो है प्रकृति (Nature- Environment) प्रकृति हमें सुध हवा,पानी,भोजन न जाने क्या क्या देता है, पहाड़, झड़ना और ना जाने सुन्दर मनमोहक फूल पती, जीसका हमारा जीवन में काफी महत्व है और महत्व ही नहीं इसी से जिन्दगी चलती है तब जिससे जिन्दगी चलती है उसका ख्याल रखना हमारा धर्म है। हमे ज्याद से ज्यादा पेड़ पौधे लगाना चाहिए, घर के आस पास भी पेड़ पौधे लगाना चाहिए जंगलो में पेड़ की कटी से वर्षा का आंशिक अनुपात कमते जा रहा है अगर ऐसा रहा तो आगे आने वाले दिनों में काफी मुस्किल पैदा होगी इसलिए प्रकृति  का रख रखाव करें एवं दूसरों को भी करने के लिए प्रेरित करें “प्रकृति की हरियाली –आपकी खुशहाली है”. 

10.पशु–पक्षिओं से प्रेम करो: 

पशु-पक्षी और जानवर ये सभी जीवन पद्धति का हिस्सा है अगर पशु-पक्षी नहीं होंगे तो हमारा प्रकृति का संतुलन खराब हो जायेगा अगर आप महसूस करते होंगे सुबह –सुबह जब आपके कानों में पक्षिओं के मधुर स्वर किलकिलाती है तो आपका मन प्रफुलित हो जाता होगा जो आपको पूरी दिन खुश-प्रशंचित रहने का एक कारण बनता है।  

1 टिप्पणी:

Please do not enter any spam link in the comment box